Untitled Document
प्रस्तावित योजनाये
  • असहाय, परित्यक्त, विधवा, निर्धन कन्या विवाह कार्यक्रम
  • प्रत्येक जनपद में नि:शुल्क धर्मार्थ चिकित्सालय की स्थापना
  • प्रत्येक जनपद में नि:शुल्क शिक्षा केंद्र की स्थापना
  • राष्ट्र जागरण युवा संगठन के कार्यालय, वृद्ध अवं महिला सहायता केंद्र की स्थापना
  • प्रत्येक जनपद में वृद्ध आश्रम, अनाथ आश्रम, महिला आश्रय सदन की स्थापना
  • प्रत्येक जनपद में कंप्यूटर प्रशिक्षण केन्द्रों की स्थापना
  • राष्ट्र जागरण युवा संगठन

    संस्था द्वारा युवाओं को संगठित कर राष्ट्रीय जागरूक युवा संगठन की स्थापना की | विभिन्न क्षेत्र साहित्य, इंजीनियर, शिक्षा, स्वास्थ्य, व्यापार से जुड़े युवाओं को संगठित कर समाज कल्याण में लगाना, राह से भटके हुए युवाओं को संगठित कर सही मार्ग पर लाना, युवाओं के सहयोग से नशा उन्मूलन कार्यक्रम, अन्याय एवं अत्याचार के विरुद्ध आवाज़ उठाना, सरकारी यौजनाओ का लाभ पात्र लोगो तक पहुचाना, स्वरोजगार की स्थापना में मदद करना, आदि प्रमुख उददेश्य है |
    जिसकी सहायता से विभिन्न कार्यक्रमों में युवाओं का पूर्ण सहयोग और अच्छा परिणाम मिला | विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों के आयोजन जागरूक युवा संगठन के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओ द्वारा किये जाते है | राष्ट्रीय जागरूक युवा संगठन के बारे में जानने के लिए यहाँ क्लिक करे राष्ट्र जागरण युवा संगठन
  • फल संरक्षण प्रशिक्षण कार्यक्रम

    संस्था के कार्यक्रम पर ही फल संरक्षण प्रशिक्षण का आयोजन किया जाता है | जिनमे अनेक महिलाओ को जैम, जेली, अचार, मुरब्बा आदि बनाने का प्रशिक्षण दिया जाता है | वर्ष में कई बार फल संरक्षण प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन होता है जिसमे महिलाए अपने घरो को संरक्षित कर स्वादिष्ट और स्वास्थ्यवर्धक जैम, जेली, अचार, मुरब्बा बनाकर अपने बालको और परिजनों को सेहतमंद रख सकती है|

  • नि:शुल्क स्वास्थ्य एवं नेत्र चिकित्सा शिविर

    सर्वजन समाज सहयोग समिति द्वारा ग्रामीण क्षेत्रो और दलित बस्तियों में स्वास्थ्य चिकित्सा एवं नेत्र शिविरों का आयोजन किया जाता है जिनमे नि:शुल्क जाँच एवं नि:शुल्क दवाओ का वितरण किया जाता है | इस प्रकार के शिविर का लाभ गरीब व असहाय लोग उठाते है | पहले प्रचार गाडी से स्थान निश्चित कर प्रसार-प्रचार किया जाता है, जिसमे जरूरतमंद लोग स्वयं ही समय पर एकत्रित हो जाते है तब उसकी नि:शुल्क जाँच कर अवाश्यक्क्तानुसार दवाऎ दी जाती है | इसके अलावा गंभीर रोगियों को सही मार्गदर्शन दिया जाता है |

    मोतियाबिंद के नेत्र रोगियों को समय दिया जाता है और उन्हें ऑपरेशन के लिए बुलाया जाता है जहाँ खाना-पीना, नि:शुल्क ऑपरेशन एवं दवायें, चश्मा आदि भी संस्था द्वारा नि:शुल्क दी जाती है | अनेक M.B.B.S., M.S., Surgeon डॉक्टर्स, ओप्तोमेटिस्ट, फिजियोथेरेपिस्ट सभी का सहयोग गरीब असहाय लोगो के लिए मिलता है | अत्यंत न्यूनतम शुल्क में समाज सेवा के लिए सभी अपना समय निकालते है उन्हें बारम्बार धन्यवाद देते है हम लोग |

    मथुरा जनपद के बलदेव ब्लाक के अनेक गाँव के ग्रामीणों को संसथान की इस पहल से लाभ हुआ है और उससे भी ज्यादा लाभ राया ब्लाक के ग्रामीणों को हुआ है | संस्थान को अनेक शिक्षण संस्थाओ का सहयोग मिला है उनके प्रांगण में जाकर नि:शुल्क शिविर का आयोजन किया जाता है | सहयोग समिति इस क्षेत्र के लिए परिचय की मोहताज नहीं है | अनेक बुजुर्ग लोगो की आँखों की रोशनी नि:शुल्क लोटाई गई है साथ ही बुढ़ापे में होने वाले जोड़ो के दर्द की नि:शुल्क दवाए एवं परामर्श भी दिया जाता है |.

    आने वाले समय में ग्रामीणों में पाया जाने वाला रोग अस्थमा की रोकथाम के सम्बन्ध में भी सहयोग समिति कार्य प्रारंभ करने जा रही है | जिसका परिणाम किसी से छिपेगा नहीं | गरीब लोगो हेतु नि:शुल्क नेत्र चिकित्सा शिविर का आयोजन संस्था द्वारा किया जाता है | जिसके अंतर्गत मोतियाबिंद, कालापानी, नाखूना जैसे नेत्ररोगियों का ऑपरेशन द्वारा उपचार किया जाता है | जिसमे अनेक लोग लाभान्वित होते है |
  • महिलायों के कल्याण हेतु

    संस्था द्वारा महिला जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है जहाँ महिलाओ को स्वच्छता, पोषक आहार एवं शिक्षा के प्रति जागरूक किया जाता है | संस्था द्वारा सिलाई कढ़ाई, बुनाई एवं फल संरक्षण का प्रशिक्षण भी ग्रामीण क्षेत्रो में दिया जाता है | यह क्षेत्र गवाह है की क्षेत्र में बालिकाओ को पढाया नहीं जाता था सहयोग समिति के प्रयास से अधिकतर बालिकाऎ विद्यालयों में पढाई जा रही है | यही नहीं आगे भी बङने की सोच रही है |
    गरीब, असहाय, परित्यक्त कन्याओ के रोजगार हेतु प्रशिक्षण देना एवं स्वरोजगार की स्थापना में सहयोग कर उन्हें स्वाबलंबी बनाना, सिलाई-कढ़ाई-बुनाई, फल संरक्षण एवं रूचि के अनुसार प्रशिक्षण देकर उन्हें स्वाबलंबी बनाया जा रहा है | शिक्षा के प्रति जागरूक कर उनकी शिक्षा की व्यवस्था करना, उन्हें शिक्षित करना, संस्था के प्रशिक्षण केन्द्रों की स्थापना योग्य महिलाओ-युवतियों के सहयोग से करना | विभिन्न क्षेत्रो पत्रकारिता, न्याय, साहित्य, शिक्षा, स्वास्थ्य, के क्षेत्र से जुडी युवतियो एवं महिलाओ के सहयोग से जागरूकता अभियान चलाना, गोष्ठियों का आयोजन कर महिलाओ को जागरूक करना |
  • बाल कल्याण

    गरीब, अनाथ बालको की शिक्षा की नि:शुल्क व्यवस्था करना, विभिन्न उद्योगपतियों, पूंजीपतियों, समाजसेवको के सहयोग से निर्धन अनाथ बालको हेतु अनाथालयो, शिक्षा केन्द्रों की व्यवस्था कर उन्हें देश का शिक्षित एवं सामाजिक नागरिक बनाना |

    जो बालक क्षेत्रीय विद्यालयों, शिक्षा, शि‌‍‌ष्टाचार आदि में एवं समय-समय पर होने वाली प्रतियोगिताओ में अच्छा प्रदर्शन करते है | संसथान उन्हें पुरस्कृत कर उत्साहवर्धन करती है और समाज के अच्छे कल्याणकारी कार्य करने हेतु क्षेत्रीय लोगो और बालको को प्रेरित करती है |

    छात्र-छात्राओ के लिए संस्थान खेलकूद के सामान समय-समय पर बितरित करती है जैसे क्रिकेट किट. बॉलीवाल, फुटबाल, बैडमिंटन आदि |
  • नशा उन्मूलन कार्यक्रम

    संस्था द्वारा नशा उन्मूलन कार्यक्रम चलाया जाता है | बिभिन्न स्थानों पर शिविर लगाकर एवं गोष्ठियां कर नशे से होने वाली हानियों के प्रति लोगो को जागरूक किया जाता है | बिभिन्न शिक्षण संस्थानों की सहायता से प्रतियोगिताओ का आयोजन किया जाता है जिसमे पोस्टर प्रतियोगिता, भाषण प्रतियोगिता प्रमुख है | शिक्षण संस्थानों में छात्र, छात्राओ की प्रतियोगिता करायी जाती है, उन्हें जागरूक किया जाता है, विजेता छात्र - छात्रा को पुरस्कृत भी किया जाता है | छात्र – छात्राओ की मदद से जागरूकता रैली आदि निकाली जाती है | नुक्कड़ नाटक आदि के माध्यम से जनता को जागरूक किया जाता है | संस्था अब तक अनेक लोगो को नशा मुक्ती करा चुकी है | क्षेत्र में ख्याति है |
  • शिक्षा जागरूक कार्यक्रम

    प्रत्येक वर्ष शिक्षा जागरूक कार्यक्रम के अंतर्गत पदाधिकारी व कार्यकर्ता गाँव-गाँव घर-घर जाकर शिक्षा के प्रति जागरूक करते है उन्हें शिक्षा का महत्व बताते है | शिक्षा प्राप्त कर बालक क्या-क्या कर सकते है उनकी जीवन शैली में क्या बदलाव आ सकते है उनका भविष्य किस तरह किस दिशा में में जा सकता है यह सब उन्हें बताया जाता है | इसका प्रभाव भी देखने को मिल रहा है | सहयोग समिति से प्रेरित होकर अनेक बालको को नई दिशा मिली | बालको को उनकी रूचि के अनुसार मार्गदर्शन दिया जाता है | प्रोत्साहित एवं प्रेरित किया जाता है | उन्हें कोर्सेस की जानकारी दी जाती है | उनकी रूचि और काबिलियत के अनुसार B.A., B.Sc., B.Com., B.Tech. आदि में प्रवेश हेतु मार्गदर्शन दिया जाता है अथवा उन्हें NDA, CDS, NAVY, AIR FORCE, POLICE, सिविल सर्विसेज की तैयारी हेतु मार्गदर्शन दिया जाता है | संस्था की भागीदारी किसी से छुपी नहीं है |
  • पर्यावरण संरक्षण अभियान

    संस्था द्वारा ग्रामीण क्षेत्रो में वृक्षा रोपण कराया जाता है | जिसमे क्षेत्र के सज्जन लोगो का सहयोग रहता है | पर्यावरण संरक्षण से सम्बंधित बिभिन्न गोष्ठियों का आयोजन क्षेत्र की शिक्षण संस्थाओ में कराया जाता है | इस अभियान के अंतर्गत बृहद वृक्षारोपण करना, स्वच्छता अभियान चलाना, विभिन्न गोष्ठियों का आयोजन कर जागरूकता उत्पन्न करना | वृद्ध, युवा, एवं बालको के सहयोग से कार्यक्रमों को सफल बनाया जाता है |
  • संस्कृति एवं जन कल्याण कार्यक्रम

    इस के अंतर्गत क्षेत्र के विद्यालय क्ष्री जे० पी० मिश्र स्मारक इंटर कॉलेज, न० मोहन, जुगासना, में कार्यकर्ताओ द्वारा संस्कृतिक पृस्तुतिया देते है | कार्यक्रम के समापन में उनको पुरस्कार वितरण व बालक-बालिकाओ हेतु कुछ पुस्तके भी वितरण की जाती है |